अब पोस्ट ग्रेजुएट पास माने जाएंगे सी.ऐ – सी.एस पास | यूजीसी नेट में शामिल हो सकेगे और पीएचडी करने का मोका भी मिलेगा

चार्टर्ड अकाउंटेंट, कंपनी सेक्रेटरी या कॉस्ट एंड वर्क्स अकाउंटेंट पास उमीदवार की योग्यता अब पीजी डिग्री के बराबर होगी। इसके बारे में यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन ने इंडियन चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया, इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया और इंस्टीट्यूट ऑफ कॉस्ट अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की अपील पर यह फैसला किया है। यू.जी.सी. के इस फैसले के बाद सीए के 3 लाख और सीएस के 2.5 लाख उमीदवार को यूजीसी नेट में शामिल होने के साथ ही पीएचडी करने का मोका भी मिलेगा |

अब पोस्ट ग्रेजुएट पास माने जाएंगे सी.ऐ सी.एस पास

दो साल बाद UGC की मंजूरी मिली

आई.सी.ऐ.आई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया की ऍम.कॉम और ऍम.बी.ऐ की तुलना में सीए और सीएस का सिलेबस ज्यादा होता है। इस इन्हें पास करने के लिए बहुत सी कठिन परीक्षाएं भी देनी पड़ती है | पिछले दो सालों से यूजीसी से इसे मान्यता देने की अपील कर रहे हैं। और आई.सी.ऐ.आई के सीसीएम धीरज खंडेलवाल ने सोशल मीडिया के माध्यम से इसकी जानकारी दी।

इसी साल मई में होगी सीए की परीक्षाएं

आपको बता दे की अभी देश में 109 विश्वविद्यालय सीए, सीएस और आईसीडब्ल्यूए के स्टूडेंट्स को पोस्ट ग्रेजुएट मानकर उन्हें पीएचडी ऑफर कर रहे है | लेकिन यूजीसी से कोई भी निर्देश नहीं मिलने के कारण कुछ यूनिवर्सिटी पीएचडी कराने से मना कर रही है | इसी के कारण ही आई.सी.ऐ.आई. और आई.सी.एस.आई. पिछले दो सालों से यूजीसी से इसकी मांग कर रही है | सीए इंटरमीडिएट और फाइनल की परीक्षाएं इसी साल 22 मई और 21 मई से शुरू होंगी।

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *