education department changed the order in class 1st 8t without tc there will be no permanent admission शिक्षा विभाग ने बदला आदेश कक्षा में बिना टीसी के नहीं होगा स्थाई प्रवेश, पुरानी स्कूल को 15 दिन में काटनी होगी टीसी,

Education department changed the order in class 1 8 without tc there will be no permanent admission old school will have to cut tc in 15 days: शिक्षा विभाग ने बदला आदेश कक्षा स्थाई प्रवेश, पुरानी स्कूल को 15 दिन में काटनी होगी टीसी टीसी देते समय उसी सत्र की फीस ले सकेंगे प्राइवेट स्कूल, विरोध शुरू शिक्षा विभाग ने कक्षा एक से आठ में प्रवेश के लिए नए दिशा निर्देश जारी किए है। विभाग ने 8 जुलाई को 8वी तक एडमिशन के लिए टीसी की जरूरत नहीं होने के आदेश दिए थे।

शिक्षा विभाग ने बदला आदेश कक्षा 1-8 में बिना टीसी के नहीं होगा स्थाई प्रवेश, पुरानी स्कूल को 15 दिन में काटनी होगी टीसी,

education department changed the order in class 1 to 8 without tc there will be no permanent admission old school: इस आदेश का प्रदेशभर के निजी स्कूल संचालकों ने विरोध किया। इस पर विभाग ने अपने पूर्व के आदेश को बदलकर टीसी कीअनिवार्यता को फिर से लागू कर दिया है। बिना टीसी के स्टूडेंट्स का अब किसी भी स्कूल में स्थाई प्रवेश नहीं होगा। बगैर टीसी अस्थाई प्रवेश लेने वाले विधार्थियों के एसआर नंबर नहीं दिया जाएगा।

स्टूडेंट्स की और से टीसी देने पर ही उसका प्रवेश स्थाई हो पाएगा। माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने इस संबध में दिशा-निर्देश जारी किए है। वही पेरेंट्स की और से टीसी मांगने पर old school will have to cut tc in 15 days संबधित स्कूल को 15 दिन में टीसी देनी होगी।टीसी देते समय संबंधित स्कूल उसी सत्र की फीस छात्र से वसूल कर सकेगा।

education department changed the order in class 1st to 8th without tc there will be no permanent admission old school: स्कूल एजुकेशन वेलफेयर असोसिएशन ने इस आदेश को विरोध किया है संगठन के प्रदेशाध्यक्ष कोडाराम भादू ने बताया कि आदेश में कहा गया है कि 15 दिन की अवधि में टीसी देना अनिवार्य होगा। इसका मतलब अगर अभिभावक 15 दिन में फीस नहीं दे तो भी टीसी देनी देनी पड़ेगी।

टीसी देते समय एक सत्र का ही शुल्क लिए जाने की शर्त भी उचित नहीं है। अभी पिछले सत्रों की फीस बकाया चल रही है यदि एक ही सत्र की फीस लेने की बात करते है तो पीछे की सारी बकाया फीस नहीं ले पाएंगे। इस आदेश में संशोधन किया जाए तथा संपूर्ण बकाया फीस लेने के लिए आदेश जारी किए जाए।

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *